Ads (728x90)

चूँकि आप ब्लॉग बनाने का मन बना चुके हैं। शायद आपने इसके बारे में शुरुआती रिसर्च भी कर ली है और आप एक प्रोफ़ेशन बनने को बिल्कुल तैयार हैं। शायद आपने यह भी सोच लिया कि आपका ब्लॉग किस बारे में होगा और आपने यह भी दृढ़ संकल्प किया होगा कि आप इसे पूरी मेहनत और ईमानदारी से चलायेंगे।

लेकिन आप अभी भी इस बात को लेकर परेशान हैं कि आपको नये ब्लॉग के लिए क्या ख़रीदना चाहिए और क्या मुफ़्त में इस्तेमाल करना चाहिए। आप अनेक लोगों से इस बारे में राय ले रहे हैं और अनेक ब्लॉगों पर इस बारे में पढ़ चुके हैं लेकिन आप अभी तक यह निश्चित नहीं कर पाये हैं कि आपको ब्लॉग चलाने के लिए कितना खर्च करना चाहिए ताकि आप एक सफल ब्लॉग चला सकें।

आपको हज़ार से भी ज़्यादा शब्दों की यह पोस्ट बहुत बड़ी लग सकती है लेकिन आपको इसकी चिंता नहीं करनी चाहिए। इसको पढ़कर आप यह स्पष्ट रूप से समझ पायेंगे कि आपको क्या ख़रीदना है और क्या मुफ़्त में इस्तेमाल करना है जिससे आपके की नींव तकनीकि रूप से मजबूत बन सके। इसलिए शांति बनाये रखिए और आगे पढ़ते जाइए या अगर आपको कोई ज़रूरी काम याद आ रहा है तो फिर इस पेज को बुकमार्क कर लीजिए ताकि बाद में पढ़ सकें।

Make a professional blog

लेकिन मैं आपको बिना रुपये लिए एक राय दूँगा। आपके पास ख़ाली समय कभी नहीं होगा क्यों ज़रूरी से ज़रूरी काम के लिए समय निकलना पड़ता है। इस दौरान मैं आपके साथ हूँ और आप सम्बंधित प्रश्नों के उत्तर कमेंट करके प्राप्त कर सकते हैं। जिसका मुझे तत्परता से इंतिज़ार है।

क्या ब्लॉगिंग पहले मुफ़्त थी, अब नहीं है?

आज से कुछ साल पहले एक मुफ़्त ब्लॉग बनाना आम-सी बात थी। आज भी आप बिना एक कौड़ी खर्च किए एक ब्लॉग बना सकते हैं क्योंकि सभी को एक ब्लॉग शुरु करने के लिए एक मुफ़्त डोमेन, एक फ़्री होस्टिंग और मुफ़्त ब्लॉगिंग प्लेटफ़ार्म दिया जा रहा है।

यदि ऐसा ही है तो क्यों लोग अपना डोमेन और प्रीमियम होस्टिंग लेकर दुनिया भर में लाखों डालर कमा रहे हैं। क्या ख़रीदार इतनी आसानी से मिल जाते हैं। क्या वो प्रीमियम ब्लॉगिंग उपभोक्ता बनने की बजाय मुफ़्त मिलने वाली चीज़ों के बारे में नहीं जानते हैं। ऐसा नहीं है, ऐसे ब्लॉगर प्रोफ़ेशनल कहलाते हैं।

प्रोफ़ेशनल ब्लॉगर होने से क्या अभिप्राय है?

इसका सीधा अर्थ है कि आप अपनी सेवाओं के लिए रुपये लेते हैं और दूसरों से ली गयी सेवाओं के लिए उन्हें अदा भी करते हैं। ऐसा आप इसलिए करते हैं क्योंकि आप ख़रीदी जाने वाली चीज़ का मूल्य समझते हैं।

आपको चीज़ें ख़रीदने के लिए रुपये की आवश्यकता पड़ती है, यह दिखाता है कि आप ख़रीदी गयी चीज़ को कितना महत्व देते हैं।

लाभ कमाने का वैश्विक नियम क्या है?

यह किस प्रकार से सम्भव है कि आपको सब कुछ मुफ़्त ही मिल जाये और आप कमाई भी करते रहे हैं? क्या सम्भव है कि किसी को कुछ मुफ़्त मिल जाये और वह दुनिया भर में उसे बेचता फिरे? ऐसा सिर्फ़ एक या दो बार ही हो सकता है कि आप मुफ़्त मिली चीज़ को बेच पायें, जैसे ही वह कोई ख़रीदेगा उसे पता चल जायेगा कि आपने उसे मुफ़्त चीज़ बेची है।

अगर किसी मुफ़्त मिलने वाली चीज़ में कोई नये बदलाव करके बेचा जाये तो भी आप उसे इतने बड़े दाम से नहीं बेच पायेंगे कि आपको बड़ा लाभ अर्जित हो जाये। इसलिए यह आवश्यक कि चीज़ों को सही दाम पर ख़रीदकर उसमें आवश्यक बदलाव करके उसे बेचा जाये। यही हर बिजनेस का वैश्विक नियम है।

यदि आप ब्लॉगिंग को बिजनेस के तौर पर अपनाना चाह रहे हैं तो यह आवश्यक है कि मुफ़्त मिलने वाली चीज़ों के प्रयोग से बचें क्योंकि इससे ब्लॉग को एक मज़बूत नींव नहीं मिलती है।

1. अपना ब्लॉग बनाने के लिए सबसे बढ़िया तरीक़ा प्रीमियम सर्विस प्रयोग करना है

यदि आप एक सफल ब्लॉगर बनना चाहते हैं तो जितना सम्भव हो प्रीमियम प्रोडक्ट्स और सर्विसेज़ का प्रयोग करना चाहिए। ब्लॉग की तकनीकि नींव मज़बूत करने के लिए कभी भी मुफ़्त बेसिक प्रोडक्ट्स का उपयोग नहीं करना चाहिए।

होस्टिंग और डोमेन
यदि आप किसी तरह का जोख़िम नहीं उठाना चाहते हैं तो आपको कम से कम यह दो प्रोडेक्ट्स तो ख़रीदने ही चाहिए। यदि आप ब्लॉगिंग को प्रोफ़ेशनली ले रहे हैं तो आपको इनके प्रीमियम संस्करणों का प्रयोग करना चाहिए।

- होस्टिंग
- डोमेन

ब्लॉगिंग के शुरुआती दौर में डोमेन के साथ सस्ता मगर बढ़िया होस्टिंग पैकेज लेना चाहिए। ब्लॉग के खुलने की गति अच्छी सर्च रैंकिंग पाने में बहुत मदद करती है। प्रीमियम होस्टिंग प्रयोग करने आपका से बहुत तेज़ खुलता है।

गूगल बॉट्स प्रीमियम डोमेन को सबसे पहले रैंक देते हैं। इसलिए प्रीमियम सेवाओं का प्रयोग करना आवश्यक हो जाता है।

जब आप होस्टिंग न लेकर गूगल ब्लॉगर का प्रयोग करते हैं तो आपको डोमेन लेना बहुत ज़रूरी हो जाता है। आज डोमेन की क़ीमत कोई बहुत बड़ी नहीं होती है, जिसे आप ख़रीदने के लिए दस बार सोचें।

ब्लॉग टेम्पलेट
जबकि आप सफल ब्लॉगर बनने के लिए इतना कुछ करते हैं तो इसके साथ एक प्रीमियम ब्लॉग टेम्पलेट ख़रीदना बुद्धिमानी कहा जाता है। ब्लॉग थीम या टेम्पलेट ख़रीदते समय एस ई ओ को लेकर पर विशेष ध्यान देना चाहिए। आज ब्लॉग के लिए बहुत सी ऐसी थीम उपलब्ध हैं जिनकों डिज़ाइन करते समय एस ई ओ पर विशेष ध्यान दिया जाता है। जिससे बेसिक एस ई ओ का ख़र्च बच जाता है।

मज़बूत एस ई ओ का अर्थ बेहतर सर्च रैंकिंग से है जो कि आपके ब्लॉग पर पाठकों की भीड़ जमा करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। ब्लॉग प्रोमोशन के लिए मात्र ऑन-पेज और ऑफ़-पेज एस ई ओ ही रह जाता है जो कि आपके हाथ में होता है।

ईमेल सदस्यता सेवा
अपने पाठकों एवं सदस्यों का डेटाबेस बनाने के लिए आपको एक क़दम आगे रहना चाहिए। इसलिए ईमेल सदस्यता लेने वाले पाठकों एवं ग्राहकों की सूची पहले ही दिन से बनानी शुरु करनी चाहिए। यह कम नीचे दी गयी विधियों से किया जा सकता है -
- ब्लॉग से सम्बंधित विषय की ई-पुस्तक उपलब्ध करवा के
- ब्लॉग विषय से सम्बंधित एक ऑनलाइन ट्रेनिंग उपलब्ध करवा के
- ब्लॉग के नये लेखों की सूचना सदस्यों को उनके ईमेल पर भेजकर

ईमेल सदस्य सूची किसी भी मुफ्‍़त ईमेल सदस्यता सेवा के प्रयोग से बनायी जा सकती है। गूगल फ़ीडबर्नर एक ऐसी ही सेवा है। एक अन्य सेवा मेल चिम्प "MailChimp" (मुफ्‍़त) आज के दौर की सभी आवश्यकताओं की पूर्ति कर रही है। लेकिन ऑबर "Awber" इससे भी कहीं आगे है, आज लगभग 80 प्रतिशत सफल ब्लॉगर इसी का प्रयोग कर रहे हैं।

2. किसे मुफ़्त सेवाओं का प्रयोग करना चाहिए?

इस लेख के उपरोक्त भाग का यह अर्थ नहीं है कि आप मुफ़्त सेवाओं का प्रयोग करके सफल ब्लॉगर नहीं बन सकते हैं। बहुत से सफल ब्लॉगर पहले मुफ़्त सेवाओं का प्रयोग करते थे, बाद में उन्होंने प्रीमियम सेवाओं का प्रयोग करना शुरु कर दिया। लेकिन ऐसा ब्लॉगिंग में तब था जब प्रतियोगी कम थे। इसी कारण उन्हें मुफ़्त सेवाओं के साथ इतनी सफलता मिल सकी थी।

आज ब्लॉगिंग में प्रतियोगियों की संख्या इतनी अधिक है कि आपको मुफ़्त सेवाओं के प्रयोग के बारे में सोचना भी नहीं चाहिए। नहीं तो आपको शुरुआती दौर में ही कोई अन्य ब्लॉगर पिछाड़ देगा। अगर आपको प्रोफ़ेशनल ब्लॉगर बनना है तो आपको आज से ही प्रीमियम सेवाओं का उपयोग करना शुरु कर देना चाहिए।

सिर्फ़ शौक़ के लिए ब्लॉगिंग करने वाले ब्लॉगर यदि मुफ़्त सेवाओं का प्रयोग करें तो कोई बात नहीं है लेकिन उन्हें यदि प्रशंसकों को जुटाना है तो प्रीमियम सेवाएँ कारगार रहती हैं।

3. किसे मुफ़्त और प्रीमियम दोनों प्रकार के विकल्पों का चुनाव करना चाहिए?

यदि आपको यह पता नहीं है कि आपको ब्लॉगिंग कब तक करनी है तो आप एक डोमेन, होस्टिंग और मुफ़्त टेम्पलेट से काम चला सकते हैं।

अभी आपको ब्लॉग रुपये कमाने की बड़ी इच्छा है लेकिन आपको यह पता नहीं है कि आपको सफलता किस हद तक मिलेगी। ऐसी स्थिति में आपको धीरे-धीरे रुपये बढ़ती आमदनी के साथ खर्च करने चाहिए।

यदि गूगल ब्लॉगर का प्रयोग करते हैं तो आपका होस्टिंग का बहुत बड़ा खर्च बच जाता है। ऐसी स्थिति में आपको डोमेन के साथ प्रीमियम टेम्पलेट ख़रीदना चाहिए जिसमें विज्ञापनों के लिए पहले से ही विशेष व्यवस्था हो। क्योंकि मुफ़्त मिलने वाले टेम्पलेट में विज्ञापनों के लिए ठीक से प्रबंध नहीं होता है जिससे आपके ब्लॉग से कमाई करने की सम्भावना बिल्कुल कम हो जाती है। प्रीमियम टेम्पलेट आपको आमदनी बढ़ाने में कारगर साबित होता है।

असफलता से बचने का एक ही रास्ता है कड़ी मेहनत साथ ही परिस्थितियों से जूझने की क्षमता रखना। आप तभी हारते हैं जबकि आप हारा हुआ महसूस करते हैं। ब्लॉगिंग एक ऐसा करियर है जिसमें उतार-चढ़ाव आते हैं बस आपको आमदनी के विकल्प तैयार रखने चाहिए। अत: आपको अपने मन में कभी असफलता का डर नहीं आने देना है।

4. ब्लॉग बनाने का परम्परागत दृष्टिकोण

परम्परागत दृष्टिकोण ये कहता है कि आप पहले मुफ़्त सेवाओं का प्रयोग कीजिए और अगर आपको सफलता हाथ लगती है तो आप ब्लॉगिंग में खर्च कीजिए। यह परम्परागत दृष्टिकोण पहले काम करता था किंतु अब यह बिल्कुल काम नहीं करता है।

ब्लॉगिंग के शुरुआती समय में यह बहुत कारगर विधि मानी जाती थी। जब किसी को कुछ पता नहीं था और लोग प्रयोग करने के लिए ब्लॉगिंग शुरु करते थे। जिन्हें सफलता मिली वो आज प्रोफ़ेशनल ब्लॉगर के रूप में जाने जाते हैं।

लेकिन इस दृष्टिकोण में एक समस्या है।

जब आप मुफ़्त सेवा से प्रीमियम सेवा में जाना चाहते हैं, विशेषकर जब ब्लॉगिंग सेवा को ही बदल रहे हों तब बहुत से जोख़िम (रिस्क) शामिल रहते हैं। मुफ़्त सेवा सामग्री को प्रीमियम में बदलना बहुत बड़ा सरदर्द होता है यदि आप नहीं जानते हैं क्या करना है तो प्रोफ़ेशनल की मदद लेने पर भी बहुत बड़ा खर्च आता है। फिर भी इस बात की कोई गारंटी नहीं होती है कि आप सब कुछ समेटकर प्रीमियम में अपने पुरानी सभी चीज़ें मैनेज कर पायेंगे।

प्रयोग करने का समय अब ख़त्म हो चुका है

अब ब्लॉगिंग के साथ प्रयोग करने का समय नहीं रहा है। आज इस क्षेत्र में सब कुछ पहले से ही साफ़ है। अब आप को ब्लॉग का ट्रैफ़िक बढ़ाने के लिए कोई भी तुक्का नहीं मारना पड़ता है। ऐसा भी नहीं है कि आपको पता नहीं है कि आपको क्या करके ब्लॉगिंग में आगे जाना है। आज ऑनलाइन मुफ़्त और प्रीमियम ब्लॉग ट्यूटोरियल्स की कोई कमी नहीं है। आपको ब्लॉग बनाने से पहले इन सबको बस समझ लेना है।

निष्कर्ष

कुल मिलाकर यह आप पर निर्भर करता है कि आप ब्लॉगिंग के लिए मुफ़्त या प्रीमियम किस सेवा को चुनना चाहते हैं। ब्लॉग बनाने से पहले अपने ब्लॉगिंग के विषय को पूरी तरह स्पष्ट कर लें। वरना बाद में आप कंफ़्यूज हो जायेंगे और विषय बदलने की सोच आपको सफलता की कई सीढ़ियाँ नीचे उतार देगी। यदि सब कुछ सही है और आपके मन में ब्लॉगिंग को लेकर दृढ़ संकल्प है तो आपको मुफ़्त सेवाओं के प्रयोग से परहेज़ करना चाहिए और प्रीमियम सेवाओं का प्रयोग करना चाहिए।

यदि आप डोमेन, होस्टिंग और ब्लॉग टेम्पलेट ख़रीदने जा रहे हैं तो हमसे तुरंत सम्पर्क करें।
http://hi.techprevue.com/p/contact.html

Keyword: professional blog, professional blogging, custom domain, premium hosting, premium blogger template, premium theme

Post a Comment

Blogger
  1. Achhi Jaankri di hai is post me.

    ReplyDelete
    Replies
    1. आपका ब्लॉगिंग अनुभव बेहतर बनाने का हम हर प्रयास कर रहे हैं। अभिनंदन!

      Delete
  2. बहुत सुन्‍दर जानकारी अत्‍यन्‍त लाभकारी जानकारी है इसका फायदा जरूर उठाया जायेगा

    ReplyDelete
    Replies
    1. अवश्य ही उठाइए इससे आपके को विश्व स्तर पर एक नयी पहचान मिलेगी!

      Delete

// टिप्पणी के सामान्य नियम
1. हम आपसे टिप्पणी में सभ्य शब्दों के प्रयोग की अपेक्षा करते हैं।
2. हम आपसे लेख के बारे में वास्तविक राय की अपेक्षा करते हैं।
3. यदि आप विषय के अतिरिक्त कोई अन्य जानकारी चाहते हैं तब हम आपको फ़ोरम में प्रश्न पूछने के लिए प्रेरित करते हैं।
4. अगर आप हमारे नये लेखों की सूचना ईमेल पर चाहते हैं तो यहाँ क्लिक करें।